Header Ads

कोरोना वायरस से कैसे बचे / कोरोना वायरस सेफ्टी tips/coronavirus / hindi me pro

coronavirus
coronavirus


"coronavirus" कोरोना वायरस से सारी दुनिया दहशत में है पर यह कोई मजाक नहीं ना इसमें कोई हैरानी की बात है तो किसका अभी तक कोई इलाज नहीं है तो डर लगता है पर आपके और मेरे लिए कुछ बेसिक सवाल हैं जिनके जवाब हम ढूंढ रहे हैं आइए उन्हें डिस्कस कर लेते हैं कोटा कैसे हैं हो जाए तो करना क्या है और मौत का खतरा कितना है 






कोरोना वायरस वैसे पूरे फैमिली ऑफ वायरस का नाम है जिससे आम तौर पर जानवरों को बीमारियां होती हैं लेकिन जानवरों से यह जो कोरोना वायरस अब इंसानों में आ गया है इसको नाम दिया गया है सीओ vid19 कोरोना वायरस डिजीज 2019 के है कि चीन के वुहान शहर की एक मीट मार्केट से इसकी शुरुआत हुई है फिलहाल 70 देशों में कैसे सामने आए हैं 90 हजार से ज्यादा केसेस है और 3000 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं पर ध्यान रहे कि 90 फ़ीसदी से ज्यादा मौतें और केसेस चीन में ही है भारत में अब तक 25 से ज्यादा पॉजिटिव कैसे पाए जा चुके हैं 

coronavirus
coronavirus



अगर आप किसी ऐसे इलाके से आए हैं जहां पर इसका प्रसार है या फिर ऐसे इलाके से आए किसी इंसान के संपर्क में हैं तभी आपको ज्यादा डरने की जरूरत है वरना यह को बहुत बड़ा खतरा ऐसे ही नहीं है जो हवा में उड़ता भर रहा है हां एक बात का ख्याल रखें कि आमतौर पर इसके जो सिस्टम है वह खांसी जुकाम बुखार वगैरह ही है तो हो सकता है 

आपको यह हो पर आपको शुरुआत में पता ना लगे तो जैसे ही अगर आपको लगे कि आप को सांस लेने में तकलीफ हो रही है निमोनिया के सितम नजर आ रहे हैं तो डॉक्टर को फोन करें और अगर आपको जुकाम खांसी वगैरह है तो मास्क लगाएं ताकि आपसे और लोगों को यह तकलीफ ना फैले वैसे वैसे इस कोरोना वायरस के 5 में से 4 मरीजों को कुछ खास नहीं होगा आंकड़े यह बताते हैं कि 80 फ़ीसदी लोगों को 2 माइल सेम्टम होंगे 14 फ़ीसदी लोगों को सेवियर सेंटम होंगे सांस लेने में तकलीफ हो गया ना कुछ ज्यादा होगी लेकिन केवल 6 फ़ीसदी लोग ऐसे हैं जो क्रिटिकली बीमार होंगे इस करो ना वायरस से जातक मौत के आंकड़े की बात है तो अभी तक 2 से 5 फ़ीसदी यह डेथ रेट बताया गया है



hindi me pro

डब्ल्यूएचओ के मुताबिक डब्ल्यूएचओ का यह भी कहना है कि इसमें दो चीजें ध्यान में रखने वाली डेथ रेट ऊपर जा सकता है अगर जो लोग अभी इलाज के अधीन है उनमें से कई और लोगों की मौत हो जाती है और दूसरी बात यह है कि बहुत सारे लोगों को माइल सेंटर होंगे उनको शायद पता ही ना हो कि उनको कोरोनावायरस है इसलिए उन्होंने अभी तक रिपोर्ट ही ना किया हो और वह घr me ठीक हो जाए तो इन लोगों की अगर गिनती हो जाए तो परसेंटेज वाइज मौत का आंकड़ा और भी नीचे आ जाएगा हालांकि आपकी एज एक्स फैक्टर है 60 से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों में इस में मौत होने का खतरा 15 fisadi  तक हो जाता है और अगर आपकी उम्र 30 से कम है तो मौत का खतरा पॉइंट .2% रह जाता है मतलब हर 50000 मरीजों में से 10 लोग मारे जाएंगे



फिलहाल इसका कोई इलाज नहीं मिला है जुकाम खांसी को डॉक्टर ट्रीट करते हैं निमोनिया हो तो आप के लंच में प्रॉब्लम होगी आप में ऑक्सीजन की कमी हो जाए और ऑक्सीजन आपको दिया जाएगा pentiliter  लीटर पर भी डाला जा सकता है मतलब आर्टिफिशल लाइफ सपोर्ट इससे आपके शरीर को ताकत मिलेगी जो इस से लड़ सकें 2 हफ्ते की ऑब्जरवेशन के बाद यह पता लग जाएगा कि आप को कितनी तकलीफ है प्राप्त हो सकता है 




डिस्चार्ज हो जाएंगे आपने कुछ कॉमनसेंसिकल बातों का ध्यान रखना है कि आप अल्कोहल बेस्ट सैनिटाइजर यूज करें साबुन से हाथ बार-बार धोने ताकि आपके हाथ किसी भी तरह के वायरस को उठाकर आपके चेहरे तक आपके शरीर तक ना ले आएंगे


लोगों के हाथ को मिलाने से पहले ✊  जरा यू कर ले तो बेहतर है और फेक न्यूज़ से प्लीज बचें होम्योपैथी देसी नुस्खे इन सब में इसका कोई इलाज नहीं है चाइनीस फूड खाने से यह नहीं होता चाइना से मंगाई गई चीजें खासतौर पर ऑनलाइन शॉपिंग में इस को साथ लेकर नहीं आती

मोटी बात यह है कि साफ-सुथरे रहे जुकाम खांसी है तो खुद को औरों से अलग करने मास्क तभी पहने यूंही मास्क ना पहनें क्योंकि पास के अंदर गीलापन पैदा हो सकता है और उससे कीटाणु पैदा हो सकते हैं पर एक बात का ख्याल जरूर रखें कि इलाज नहीं है तो इसका मतलब यह नहीं कि आप की मौत का फरमान है


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां